मंगलवार, 6 सितंबर 2022

डांग जिले के दर्शनीय स्थान के बारे मे हिन्दी मे जानकारी :

डांग जिले के दर्शनीय स्थान के बारे मे हिन्दी मे जानकारी :

डांग में घूमने के स्थान के बारे मे हिन्दी मे जानकारी : 


1. अहवा : जिले का मुख्यालय है। आदिवासी छात्रों के लिए यहां एक आश्रमशाला है। यह लकड़ी के व्यापार का एक प्रमुख केंद्र है।


2. सापुतारा : सहयाद्री श्रेणी में स्थित गुजरात का एकमात्र हिल स्टेशन सुनियोजित रूप से विकसित किया गया है। (ऊंचाई लगभग 960 मीटर) 'सपुतारा' शब्द का अर्थ है 'सांपों का निवास'। डांग के आदिवासी होली और दिवाली त्योहारों के दौरान सर्पगंगा नदी के तट पर सांप की पूजा करने के लिए इकट्ठा होते हैं। होली के दौरान यहां 'डांग दरबार' भरा जाता है। उस समय आदिवासी समूह के सरदारों को शिरपाव दिया जाता है। 'डांग दरबार' डांगी लोगों का सबसे बड़ा लोक उत्सव है। इस समय आदिवासी 'डांगी नृत्य' करते हैं। सापुतारा के आकर्षण में सनराइज पॉइंट, सनसेट पॉइंट, इको पॉइंट, बोटिंग, दीपका पार्क, सापुतारा अभयारण्य, टाइगर बार, मधुमक्खी पालन केंद्र, त्रिफला वन आदि हैं। यहां बरदीपदा का अभयारण्य है। पूर्णिमाबेहन पक्कासा ('डांग की दीदी') ने यहां 'ऋतंभरा विश्व विद्यालय' नामक एक सुंदर परिसर विकसित किया। पर्नीमबेहन पाकवास


3. वाघई : डांग के प्रवेश द्वार के रूप में वाघई एक महत्वपूर्ण व्यापारिक केंद्र है। वाघई के पास 'बॉटनिकल गार्डन' में पौधों की खेती और शोध किया जाता है।


4. गीरा जलप्रपात : वाघई के निकट शिंगला में अंबिका नदी पर 30 मीटर ऊंचा 'गिरा जलप्रपात' है। यह स्थान पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें